किया खुलासा बाबा रामदेव ने, कौन होगा 10,000 करोड़ की पतंजलि का उत्तराधिकारी…?

0
1157

योग गुरु और पतंजलि के संस्थापक बाबा रामदेव ने इस बात का ऐलान कर दिया है कि उनके बाद पतंजलि का उत्तराधिकारी कौन होगा? रामदेव ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि मैं कभी छोटा नहीं सोचता और मैं पतंजलि समूह के अगले 100 सालों के बारे में सोचता हूं और मैं अपने उत्तराधिकारी को अपने पीछे छोड़ कर जाऊंगा.

योग गुरु और पतंजलि के संस्थापक बाबा रामदेव ने इस बात का ऐलान कर दिया है कि उनके बाद पतंजलि का उत्तराधिकारी कौन होगा? रामदेव ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि मैं कभी छोटा नहीं सोचता और मैं पतंजलि समूह के अगले 100 सालों के बारे में सोचता हूं और मैं अपने उत्तराधिकारी को अपने पीछे छोड़ कर जाऊंगा. उन्होंने यह भी बताया कि 10,000 करोड़ की पतंजलि का उत्तराधिकारी कोई व्यापारी नहीं होगा और ना हो कोई सांसारिक आदमी, बल्कि वो एक 500 साधुओं की टीम होगी, जिसे मैंने प्रशिक्षित किया है.

इंटरव्यू के दौरान उन्होंने ये भी कहा कि मैं आने वाले 500 सालों में हमारे देश के बारे में सोचता हूं. उनका कहना है कि मुस्लमानों को भी गोमूत्र अपनाना चाहिए, क्योंकि इसका प्रयोग इलाज में किया जा सकता है. रामदेव ने कहा कि कुरान में लिखा है कि गोमूत्र इलाज के लिए प्रयोग किया जा सकता है. कुछ लोग पतंजलि को निशाना बना रहे हैं कि यह एक हिदू की कंपनी है. क्या कभी मैंने ‘हमदर्द’ (हमीद बंधुओं द्वारा संस्थापित) पर निशाना साधा है?

योग गुरु का कहना है कि ‘मेरा हमदर्द और हिमालया दवा कंपनी को पूरा समर्थन है. हिमालय समूह के फारुख भाई ने मुझे योगग्राम के लिए जमीन दान दी है.  अगर कुछ लोग इसके लिए शुल्क लेते हैं, तो वह सिर्फ नफरत की दीवार खड़ी कर रहे हैं.’

टेक्सटाइल बाजार में उतरेगी पतंजलि

हाल ही में बाबा रामदेव ने कहा कि पतंजलि देश में टेक्सटाइल और परिधान के क्षेत्र में विदेशी कंपनियों के वर्चस्व को तोड़ेगी. पतंजलि लेडीज व जेंट्स अंडरवियर से लेकर स्पोर्ट्सवेयर और योगवेयर के साथ एथेनिक से लेकर फैशन तक सभी प्रकार के परिधान तैयार कर बेचना शुरू करेगी. रामदेव ने कहा कि इस साल के अंत तक या अगले साल तक इनका उत्पादन शुरू कर दिया जाएगा.

पशु आहार भी तैयार करेगी पतंजलि

उन्होंने कहा कि पतंजलि अपने सभी प्रोडक्ट का विस्तार भारत में कर स्वदेशी के अलग जगह बना रहा है. रामदेव ने कहा कि अलवर में कच्ची घानी का तेल तैयार किया जाएगा. इसके अलावा पशु आहार भी तैयार किया जाएगा. पशु आहार में 4 फीसदी यूरिया की मिलावट पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि यूरिया ज्यादा डालने से पशुधन पर संकट पैदा होता है और पशुओं के लिए हानिकारक होता है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here